*किशनगंज पुलिस की पशु तस्करों पर सख्त कार्रवाई*

*किशनगंज पुलिस की पशु तस्करों पर सख्त कार्रवाई*

-जनवरी 2018 से फरवरी 2019 के बीच 624 पशुओं की हुई जब्ती.
-50 मामले दर्ज कर,54 पशु तस्करों को भेजा गया जेल.
-सीमावर्ती इलाकों पर विशेष चौकसी के निर्देश
-एसएसबी एवं जिला पुलिस का लगातार विशेष अभियान

बीते एक साल में किशनगंज पुलिस की सक्रियता के वजह से 624 पशुओं की बरामदगी हुई है.जो तस्करी के लिए ले जाया जा रहा था.इसमे उपयोग होने वाले कुल 19 वाहनों को भी जब्त किया गया है.और 54 तस्करों की गिरफ्तारी भी हुई है.सबसे अधिक 137 पशुओं की जब्ती फरवरी 2019 माह में हुई है.जबकि इस संबंध में जिले के विभिन्न थानों में पशु तस्करी से जुड़े कुल 50 मामले भी दर्ज किए गये है.वार्षिक आंकड़ा पेश करते हुए जिला पुलिस कप्तान कुमार आशीष ने कहा कि एक साल के भीतर शराब कारोबारियों और पशु तस्करों पर बड़ी कार्यवायी हुई है.आगे भी इस तरह से इसे अभियान के रूप में लेकर कार्यवाई जारी रहेगी.खासकर पशु तस्करी के लिए सीमावर्ती क्षेत्र के जिन इलाकों का इस्तेमाल होता है वहां विशेष चौकसी के निर्देश दिये गये हैं.उन्होंने कहा कि जिले की जनता भी इस मामले में सहयोग करें जहां कहीं भी पशु तस्करी,शराब का कारोबार या किसी भी प्रकार की आपराधिक गतिविधि हो तुरंत 100 नंबर डायल करें या सीधे मुझे सूचित करें.सूचना देने वाले का नाम गोपनीय रख तुरंत कार्यवायी होगी. उल्लेखनीय है कि विगत दिसंबर माह में एसपी किशनगंज ने कोढोबाड़ी थाने के पूरे पुलिस पदाधिकारियों को पशु तस्करों से सांठगांठ के आरोप पर निलंबित करके लाइन हाजिर कर दिया था।

बोले एसपी

“जिले के जिन भी इलाकों में पशु तस्करी,शराब से संबंधित एक्टिविटी होगी वहां के थानाध्यक्ष पर कार्यवाई तय है.सभी थानाध्यक्ष अपने-अपने इलाके में नियमित रूप से वाहन जांच अभियान तथा रात्रि गश्ती ब्यापक रूप से करें.कानून व्यवस्था में खलल डालने वाले चाहे हो कोई भी लोग हों, उन्हें किसी भी कीमत पर छोड़ा नही जाएगा.”।

70 total views, 2 views today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »