10% आरक्षण गरीबों के साथ छलावा:राजद नेत्री

(जी.पी.सोनी)

बिहार राजद प्रदेश महिला महासचिव पूजा सिंह ने कहा है कि केंद्र सरकार ने जो 10% आर्थिक रूप से पिछड़े जनरल कोटे के लोगों के लिए आरक्षण का बिल पास कराया है उसमें सिर्फ छल के अलावा और कुछ नहीं है यह सिर्फ एक चुनावी लॉलीपॉप है और इससे गरीबों को जमीनी स्तर पर कोई लाभ नहीं मिलने वाला। क्या कोई 60,000 से ऊपर की आमदनी करने वाला गरीब गिना जा सकता है गरीब तो वह होते हैं जो सारे दिन जी तोड़ मेहनत करने के बाद भी 2 जून की रोटी बड़ी मुश्किल से जुटा पाते हैं गरीबों की कोई जाति नहीं होती गरीब गरीब होता है, सिर्फ अपनों को राजनीति के साथ साथ प्रशासनिक विभागों में भी फायदा पहुंचाने की नियत से ऐसा किया जा रहा है यह बिल पास करा कर केंद्र सरकार ने गरीबों के साथ बहुत बड़ा मजाक किया है जिसका उन्हें आगामी चुनावों में भारी खामियाजा भुगतना पड़ेगा आगे उन्होंने बताया कि यदि गरीबों के हित में ही कोई फैसला लेना था तो ऐसा करते कि सिर्फ योग्य व्यक्ति चाहे वह किसी भी जाति का हो उसके लिए ही नौकरी का कोटा रिजर्व रखते नौकरी देने और दिलाने के नाम पर देश में रोज लाखों लोग ठगी का शिकार हो रहे हैं खुलेआम नौकरियां बेची जा रही हैं उसका कोई निदान करते, उस पर लगाम लगाते, तो गरीबों के साथ बहुत बड़ा न्याय होता। आगामी चुनावों में बिहार की जनता उनके लॉलीपॉप को धता बताते हुए गरीबों के मसीहा लालू यादव और महागठबंधन के पक्ष में वोट करेगी जिससे गरीबों के हक की आवाज मजबूत हो सके।

329 total views, 1 views today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »