डाइट के प्रिंसीपल ने किशनगंज डी ई ओ पर साजिश के तहत एफआईआर दर्ज कराने का लगाया आरोप…

डाइट के प्रिंसीपल ने किशनगंज डी ई ओ पर साजिश के तहत एफआईआर दर्ज कराने का लगाया आरोप…

India news live 

किशनगंज:डिस्ट्रिक्ट इंस्टीट्यूट ऑफ एजुकेशन एंड टैनिंग(डाइट)के प्रिंसीपल कामेन्द्र कुमार कामेश ने पिछले दिनों अपने ऊपर हुए एफआईआर को लेकर संबंधित विभाग के डायरेक्टर, डी आई जी एवं पुलिस अधीक्षक को आवेदन देकर न्याय की गुहार लगाई है।जिला मुख्यालय से सटे चकला स्थित जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान(डायट) के प्राचार्य कामेन्द्र कुमार कामेश को निलंबित कर दिया गया है।जिसकी पुष्टि जिला पदाधिकारी महेंद्र कुमार ने की।बताया जाता है कि कामेन्द्र कुमार कामेश ने किशनगंज डी ई ओ पर साजिश के तहत एफआईआर दर्ज कराने का आरोप भी लगाया है।डाइट किशनगंज के प्रिंसीपल ने सवालिया निशान खड़े किए और कहा है कि जब डीईओ ने 2 जनवरी को किशनगंज डाइट का निरीक्षण किया तो फिर 3 जनवरी को आखिर किस मकसद से डाइट किशनगंज गए?वही डाइट के प्रिंसीपल ने अपने आवेदन में निम्नलिखित बातें अंकित की हैं।डाइट चकला के प्रशिक्षु शिक्षक दीपक कुमार के लिखित आवेदन के आधार पर टाउन थाना काण्ड संख्या 10/19 के तहत मामला दर्ज किया गया है।प्राथमिकी में अंकित किया गया है कि जिला पदाधिकारी किशनगंज के संज्ञान पर आर डी डी ई पुर्णिया व डी ई ओ किशनगंज और डी पी ओ किशनगंज ने डाइट किशनगंज का औचक निरीक्षण किया तथा निरीक्षण के दौरान इन्होंने पाया कि प्रशिक्षु शिक्षकों से रुपये लेकर इन्हें परची दी जाती है और उसके बाद उनसे असाइनमेंट लिया जा रहा था।आरोप है कि इस औचक निरीक्षण के बाद प्रभारी प्राचार्य के द्वारा आवेदन कर्ता दीपक कुमार को जान से मारने, फेल करने और नौकरी से हाथ धोने की धमकी दी जा रही है।उपरोक्त आरोप बे बुनियाद है। डी ई ओ और डी पी ओ को बगैर निदेशालय के निर्देश के निरीक्षण का अधिकार नहीं है।प्रिंसीपल कामेन्द्र कुमार कामीश ने अंकित किया है कि शिकायतकर्ता दीपक कुमार डी ई ओ और डी पी ओ के अधिनस्त हैं और एफआईआर में इन्होंने जिक्र किया है कि आर डी डी ई व डी ई ओ किशनगंज और डी पी ओ ने औचक निरीक्षण किशनगंज डी एम के संज्ञान पर किया है जो अपने आप में रहस्यमय है।उन्होंने कहा कि दीपक कुमार को यह कैसे मालूम हुआ? 2 जनवरी को डी ई ओ किशनगंज ने डाइट किशनगंज का औचक निरीक्षण किया और फिर 3 जनवरी 2019 को डी ई ओ ने डाइट किशनगंज पहुंच कर मीडिया को बयान दिया और दीपक कुमार से बयान दिलवाया फिर डी ई ओ ने जाँच की कॉपी दीपक कुमार को दी।उन्होंने बताया कि दीपक कुमार से एक साजिश के तहत मेरे खिलाफ एफआईआर दर्ज कराया है।वही जब इस संबंध में जब डीईओ किशनगंज विश्वनाथ साह से बात चीत की गई तो उन्होंने ने कहा कि डाइट किशनगंज में प्रशिक्षु शिक्षकों से असाइनमेंट के नाम पर रुपए लिए जा रहे थे और किशनगंज डी एम के निर्देश पर हमनें जाँच की तथा जाँच की कॉपी जिला पदाधिकारी को दे दी गई है।अग्रीम कार्रवाई आला अधिकारी करेंगे ।डाइट किशनगंज के प्रिंसीपल से मेरी कोई जाति दुश्मनी नहीं है शिकायत मिलने पर जाँच के साथ करवाई की गई है।

16 total views, 1 views today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »