मतगणना की तैयारी को लेकर राजनीतिक दलों के साथ हुई बैठक

धीरज गुप्ता की रिपोर्ट
गया जिला निर्वाचन पदाधिकारी -सह- जिलाधिकारी, गया अभिषेक सिंह की अध्यक्षता में समाहरणालय सभाकक्ष में राजनीतिक दलों/अभ्यर्थियों के प्रतिनिधियों के साथ मतगणना की तैयारी को लेकर बैठक की गई।इस बैठक में जिलाधिकारी -सह -जिला निर्वाचन पदाधिकारी ने बताया कि 23 मई 2019 के पूर्वाह्न 8:00 बजे से मतगणना प्रारंभ कर दिया जाएगा और उन्होंने उपस्थित सभी राजनैतिक दलों/ अभ्यर्थियों के प्रतिनिधियों से अनुरोध किया कि वे पूर्वाह्न 7:00 बजे तक अपने सारे काउंटिंग एजेंट को मतगणना हॉल में प्रवेश करा देंगे और इसके लिए पूर्वाह्न 6:00 बजे गया कॉलेज में रिपोर्टिंग करेंगे और मतगणना केंद्र के अंदर पेन, मोबाइल फोन,या कोई भी इलेक्ट्रॉनिक सामान अलाउड नहीं है उन्होंने कहा कि गया कॉलेज के बाल्मीकि भवन में 3 विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र के लिए काउंटिंग हॉल बनाया गया है कॉमर्स भवन में दो एवं मनोविज्ञान भवन में 1 काउंटिंग हॉल बनाया गया है सी बी रमन भवन में ईटीपीबीएस प्रणाली से डाक मतपत्रों की गिनती होगी,जिसमें 14 टेबल रहेंगे तथा 30 कंप्यूटर पर स्कैनिंग की व्यवस्था रहेगी एवं एक काउंटिंग एजेंट दूसरे हॉल में प्रवेश नहीं कर सकते हैं इसलिए उन्होंने कहा कि 1 विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र के लिए 14

मतगणना टेबल लगाया जाएगा। वे तदनुसार अपने काउंटिंग एजेंट प्रतिनियुक्त कर सकते हैं एक एआरओ टेबल रहेगा एवं यानी कि 1 विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र के लिए 15 और कुल 6 विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र के लिए 90 काउंटिंग एजेंट एक अभ्यर्थी द्वारा प्रतिनियुक्त किया जा सकेगा साथ ही डाक मतपत्रों की गिनती के लिए भी 14 काउंटिंग एजेंट या 30 काउंटिंग एजेंट प्रतिनियुक्त कर सकते हैं इस बार की खासियत यह है कि 8:00 बजे से ही ईवीएम से मतगणना प्रारंभ कर दी जाएगी तथा 8:00 बजे से डाक मतपत्रों की ईटीपीबीएस प्रणाली से स्कैनिंग प्रारंभ कर दिया जाएगा और क्योंकि स्कैनिंग में समय ज्यादा लगेगा इसलिए दोनों मतगणना साथ-साथ चलेगा और अंत में डाक मतपत्र के परिणाम को जोड़कर अंतिम परिणाम घोषित किए जाएंगे और जिलाधिकारी ने कहा कि माननीय सर्वोत्तम उच्चतम न्यायालय के न्यायालय के आदेश के आलोक में प्रत्येक विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र के 5 मतदान केंद्रों का भीभीपैट से सीयू के मत का मिलान करना है अगर मत में हल्का अंतर भी पाया जाता है तो पुनः गणना किया जाएगा, लेकिन अंतिम परिणाम भीभीपैट के परिणाम को ही माना जाएगा,यदि किसी मतगणना मतदान केंद्र के सीईओ में किसी प्रकार की त्रुटि पाई जाती है तो उसके लिए वहां के वीवीपैट मशीन से मतगणना किया जाएगा और जो 5 मतदान केंद्रों का वीवीपैट का चयन किया जाएगा एवं वह लॉटरी प्रणाली से किया जाएगा और उनमें वह भीभीपैट शामिल नहीं होगा जिनका सीयू पूर्व में ही त्रुटिपूर्ण पाया गया हो और जिसकी गणना की जानी है जिला निर्वाचन पदाधिकारी ने बताया कि मतगणना पूरी पारदर्शिता के साथ की जाएगी सभी मतगणना टेबल पर माइक्रो ऑब्जर्वर रहेंगे और सीसीटीवी लगा रहेगा तथा वीडियोग्राफी भी कराई जाएगी एवं उन्होंने अभ्यर्थियों के प्रतिनिधियों से कहा कि मतगणना केंद्र की गरिमा के साथ कोई समझौता नहीं किया जाएगा और इसका भी ख्याल रखेंगे उन्होंने कहा कि पारदर्शिता के लिए सभी ईभीएम को भारत निर्वाचन आयोग द्वारा प्रतिनियुक्त प्रेक्षक को दिखाया जाएगा तथा उनकी सहमति प्राप्त होने के बाद ही ईवीएम के मतों की गिनती प्रारंभ की जाएगी एवं राउंड वाइज परिणाम सीईओ बिहार एवं ईसीआई के पोर्टल पर ऑनलाइन अपडेट किया जाएगा और इसलिए इस पर सीओ बिहार एवं इलेक्शन कमीशन ऑफ इंडिया की भी सीधी नजर रहेगी।ईटीपीबीएस के संबंध में बताया गया की यदि डाक मतपत्र का जिरोक्स कॉपी पाया जाएगा तो वह डुप्लीकेट मन जाएगा,साथ ही मत देने वाले के वरीय पदाधिकारी के द्वारा यदि हस्ताक्षर नहीं किया गया हो या हस्ताक्षर के बाद पदनाम अंकित नहीं हो तो वह भी डाक मतपत्र डुप्लीकेट माना जाएगा और यदि डाक मतपत्र मुड़े हुए या फटे हुए हो या मतदाता द्वारा सही स्थान पर चिन्ह नहीं लगाया गया हो तो भी उसकी गिनती नहीं होगी एवं यदि मतदाता ने वोट नहीं किया है या वोट एक से अधिक अभ्यर्थी को दे दिया है या वोट का निशान बीच में लगा दिया है तो भी उसकी गणना नहीं की जाएगी और उसे रिजेक्ट कर दिया जाएगा और इस बार डाक मतपत्र की गिनती ईटीपीबीएस प्रणाली से की जाएगी इसका विस्तृत जानकारी डाक मतपत्र कोषांग के वरीय पदाधिकारी द्वारा दी गई है इस मतगणना केंद्र के अंदर किसी भी वाहन के प्रवेश की अनुमति नहीं होगी न ही लाइटर,माचिस,कैंची,खैनी का डब्बा,इलेक्ट्रॉनिक सामग्री या कैमरा वाला चश्मा ले जाने की अनुमति होगी। इन बातों पर ध्यान देने का निर्देश दिया गया है और साथ ही बताया गया कि लगभग 3200 मतपत्र जारी किए गए हैं जिनमें से 2300 डाक मतपत्र अबतक प्राप्त हो चुके हैं और मतगणना तक सात सौ डाक मतपत्र की प्राप्ति की संभावना है इस तरह कुल 3000 डाक मत पत्र प्राप्त हो सकते हैं, जिनकी गणना की जाएगी और इस बैठक में अपर समाहर्ता राजकुमार सिन्हा,सभी विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र के ए आर ओ,उप निर्वाचन पदाधिकारी मथुरा बड़ाइक सहित तमाम पदाधिकारी उपस्थित थे।

35 total views, 1 views today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »