Breaking News

राजनीति के गिरते स्तर से सम्पूर्ण क्रांति के सिपाही चिंतित , कहा हो राष्ट्रीय स्तर पर बहस अन्यथा एक और विभाजन के लिये तैयार रहे देश ! चुनावी प्रक्रिया में सुधार से हीं राष्ट्रभक्ति को मिल सकता है बढ़ावा , तभी भारत बनेगा विश्व का भविष्य में सिरमौर !

प्रदीप कुमार साह की कलम से
चुनावी मौसम में जनता से जुड़ाव के लिए चुनावी वायदे ओर घोषणापत्र के अलावे नारों का अपना अलग हीं महत्व रहा है । परंतु समय के साथ इन नारों में अब अश्लीलता और स्तरहीनता देखी जा रही है । भारत चमत्कारों का देश रहा है । यहां के लोग भावना में बहने वाले होते हैं । भावनाओं को भड़काकर वोट लेने की प्रवृत्ति से जननायक जयप्रकाश नारायण के संपूर्ण क्रांति के प्रमुख सिपाही व बिहार लघु समाचार पत्र के अध्यक्ष एवं साप्ताहिक युवा प्रयास के प्रकाशक प्रधान संपादक 67 वर्षीय चंद्रशेखर देव राजनीति के गिरते स्तर से बेहद चिंतित व दुःखी हैं । उनका कहना है कि पहले सत्ता में बने रहने के लिए सत्ता पक्ष गुंडों को पाला करते थे । जो वोट के वक्त वेद की नीतियों यथा शाम ,दाम ,दंड , भाव , भेद का इस्तेमाल कर अपने -अपने राजनीतिक आकाओं के पक्ष में मतदाताओं को डर धमकाकर जबरन बूथ लूट की घटनाओं को अंजाम दिया करते थे । बाद के दिनों में कैश – कास्ट – क्राइम पावर का इस्तेमाल कर लोकतंत्र की हत्या किया करते थे । अब धार्मिक भावनाओं को भड़काकर सुनियोजित तरीके से देशभर में मताधिकार की स्वतंत्रता का सभी दलों के द्वारा लूट हो रही है । इसलिये अब मतदान की प्रक्रिया में हीं बदलाव के लिये राष्ट्रीय स्तर पर बहस छेड़े जाने की आवश्यकता है । तब जाकर आम अवाम में राष्ट्रभक्ति की भावना को बढ़ाई जा सकेगी। अन्यथा देश की आजादी के वक्त की हिन्दू – मुस्लिम एकता की अब लगातार बढ़ती खाई के कारण भारतवर्ष एक और विभाजन की ओर बढ़ने की ओर तेजी से अग्रसर हो रहा है । इस जमीनी हकीकत को केंद्र में बैठे बड़े राजनीतिक दलों के नेतागण या तो देख नहीं रहे हैं ,अथवा देखना हीं नहीं चाहते हैं । इस गंभीर विषय पर बुद्धिजीवियों को आगे आकर राजनीतिज्ञों के साथ सेमिनार आदि आयोजित कर राष्ट्रीय बहस का मुद्दा बनाएं। तो देश की एकता व अखंडता को बनाये रखने व राष्ट्रभक्ति की भावना देशवासियों में बढ़ाने व जातिवाद के जहर के खात्मे के लिये जरूरी कदम साबित हो सकता है । तब जाकर हिंदुस्तान भविष्य में विश्व का सिरमौर बन सकेगा ।

95 total views, 1 views today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »