फारबिसगंज में चोरों ने पुलिस को किया बौना साबित , गुरुवार की रात भी दवा के तीन थोक विक्रेताओं के शटर तोड़कर दो लेपटॉप व नगद सहित 02 लाख की संपत्ति उड़ाए , घटना सीसीटीवी में कैद । पुलिस जांच में जुटी !

प्रदीप कुमार साह की कलम से
फारबिसगंज में पुलिस को चोरों ने बौना साबित कर दिया है । लोकसभा चुनाव के बाद तो हद हीं हो गई है । अपराध की घटनाओं में बेतहाशा वृद्धि से आमजन को कौन कहे खुद पुलिस के आला अधिकारी तक चिंतित हैं । डीएसपी मनोज कुमार ने भी एक दिन पूर्व हीं चिंता जाहिर करते हुए समाधान के तरीके बताते हुए निर्देश तक जारी की है । अभय दुग्गड़ के यहां सनसनीखेज चोरी की घटना के बाद तो खोजी कुत्ते तक का सहारा लिया गया । नतीजा शून्य । अब पुलिस की कार्यशैली पर हीं सवाल खड़े हो रहे हैं । क्या टीम वर्क नहीं हो रहा है ? प्रतिबंधित लॉटरी संचालकों से वसूली में एकजुटता का नतीजा नहीं की शहरभर में यह अवैध धंधा आखिर किसके शह पर फिर से पांव पसार रहा है ? हर खबर पर नजर रखने वालों को भी पुलिसिया निष्क्रियता पर नजर रखने की जिम्मेदारी है ।बताते हैं कि लगातार हो रही आपराधिक वारदातों में गुरुवार की रात एक और अध्याय जुड़ गया । गुरुवार की रात रेलवे स्टेशन से सटे जगदीश मिल कंपाउंड वार्ड 08 में थोक दवा के तीन प्रतिष्ठानों क्रमशः शुभम , सुनील और न्यू गणपति के शटर को तोड़ कर चोरों ने दो लैपटॉप , डेढ़ लाख रुपये नगद , कुछ कागजात आदि चुरा ले गए । पास के हरिपुर गोला में भी चोरी हुए पर गृहस्वामी के बाहर होने के कारण विस्तृत व्यौरा अभी नहीं मिल पाया है । घटना की जानकारी के बाद व्यवसायी की सूचना पर प्रभारी थानाध्यक्ष विमल कुमार मंडल सदलबल मौके पर पहुंचकर मामले की जानकारी प्राप्त की । साथ हीं प्रतिष्ठान में लगे सीसीटीवी फुटेज खंगाले जिसमें तीन चोरों को चोरी की वारदात को अंजाम देते हुए स्पष्ट देखा जा रहा है । सवाल एक दिन पूर्व हीं डीएसपी फारबिसगंज की चिंताओं व निर्देशों का पालन थाना स्तर पर क्यों नहीं की जा रही है ? क्या वर्तमान में पुलिस की जो टीम फारबिसगंज थाने को मिली है वो कर्तव्यों के निर्वहन में विफल क्यों साबित हो रहे हैं ? जिला पुलिस कप्तान महोदया को इन यक्ष प्रश्नों का जबाब ढूंढने पड़ सकते हैं ।

173 total views, 1 views today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »