न्यूदिल्ली:-लाठीचार्ज के बाद मोदी सरकार पर भड़के किसान, भाजपा मंत्री और विधायक को रैली से भगाया

नई दिल्ली:किसानों के दिल्ली में प्रवेश रोकने के लिए पुलिस द्वारा किसानों की भीड़ पर पानी के बौछार के साथ आंसू गैस के गोले बरसाए गए साथ ही किसानो पर लाठी चार्ज किया गया जिसमें 30 किसानो के घायल होने की ख़बर है दिल्ली में प्रवेश को रोकने के लिए सभी रास्तों को बंद कर दिया गया है, बावजूद इसके भारी मात्रा में किसान दिल्ली में प्रवेश कर चुके हैं।

किसान पूरी तरह से उग्र नज़र आ रहे हैं, लिहाज़ा इलाके में धारा-144 लागु कर दी गई है।
गौरतलब है कि किसानों ने शर्त रखी है कि सरकार के प्रतिनिधि केंद्रीय मंत्री बीरेंद्र सिंह बात करने के लिए मंगलवार को किसान घाट आएं। उन्होंने दिल्ली में घुसने पर रोक और धारा 144 हटाने की भी शर्त रखी। लखनऊ से हेलिकॉप्टर के द्वारा 2 आईएएस किसानों से मिलने के लिए रवाना हो चुके हैं। वे हेलिकॉप्टर से गाजियाबाद आ रहे हैं। इस दौरान ये भी सूचना मिल रही है कि किसानों की मुलाकात दोपहर 12 बजे गृहमंत्री से भी होगी।

इस समय किसान साहिबाबाद से होकर वैशाली के रास्ते कौशाम्बी से आनंद बिहार जाने वाले रास्ते से आगे बढ़ रहे हैं। किसानों के साथ महिला किसानों ने भी अपनी कमर कस ली है। वहीं पुलिस अधिकारियों का कहना है कि किसानों को यूपी गेट से आगे नहीं जाने दिया जाएगा।

मौके पर आरएएफ और भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। बार्डर को पूरी तरह से सील कर दिया गया है। किसानों को गिरफ्तार करने के लिए बसों का भी इंतजाम किया गया है।

दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने गाजियाबाद, हापुड़, मेरठ, मुजफ्फरनगर, रुड़की और हरिद्वार जाने वाले लोगों से मेरठ एक्सप्रेसवे, गाजीपुर बार्डर न जाने की अपील की है। लोग गाजीपुर चौक, रोड नंबर-56, आनंद विहार, अप्सरा बार्डर, जीटी रोड, मोहन नगर होकर गाजियाबाद जा सकते हैं। यात्रा में कई राज्यों के किसान शामिल हैं।

इनकी स्वामीनाथन कमेटी की सिफारिशों को लागू करने, आत्महत्या करने वाले किसानों के परिजनों का पुनर्वास समेत कई मांगें हैं।

87 total views, 1 views today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »