http://pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js Exclusive-(खबर का असर-) इंडिया न्यूज लाइव के खबर से कुंभकर्णी नींद से जागी फारबिसगंज अनुमंडलीय स्वास्थ्य प्रशासन – हरेन्द्र कुमार/प्रीतम गुप्ता की एक रिपोर्ट – India News Live

Exclusive-(खबर का असर-) इंडिया न्यूज लाइव के खबर से कुंभकर्णी नींद से जागी फारबिसगंज अनुमंडलीय स्वास्थ्य प्रशासन – हरेन्द्र कुमार/प्रीतम गुप्ता की एक रिपोर्ट

 हरेन्द्र कुमार/प्रीतम गुप्ता की एक रिपोर्ट
इंडिया न्यूज लाइव 11.11. 2017 को हुई पीड़िता के साथ अत्याचार का खुलासा इंडिया न्यूज़ लाइव के द्वारा किया गया जिसमें अस्पताल प्रशासन का काला चिट्ठा को खोल कर रख दिया गया वार्ड संख्या 8 निवासी  रंजना देवी के साथ दुखद घटना उस दिन घटी जिस दिन स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे के द्वारा फारबिसगंज अनुमंडलीय अस्पताल में 5.68 करोड़ की लागत से ए एन एम प्रशिक्षण केंद्र का उद्घाटन का शिलान्यास किया गया ।
जैसे ही इंडिया न्यूज़ लाइव ने महादलित महिला की खबर को प्रमुखता से चलाया ।
वहीं दूसरी ओर खबर को देखते ही स्वास्थ्य प्रशासन में हड़कंप मच गया जिस जगह प्रसूता की डिलीवरी दाई द्वारा कराई गई थी उनके परिजनों का प्रसूता के घर पर आकर तरह-तरह के प्रलोभन देना शुरू कर दिया गया वहीं अनुमंडल अस्पताल के डीएस अजय कुमार सिंह ने इंडिया न्यूज लाइव के द्वारा पीड़ित व 11.11.2017 को अस्पताल में ड्यूटी पर तैनात कर्मचारियों को अपने कक्ष में बुलवाया ।

डीएस डॉ. अजय कुमार सिंह

 उसके बाद अपने कक्ष में पीड़ित के द्वारा पहचान कराया गया जिसमे प्रसूता के सास के द्वारा पहचान किया गया जिसमे 2 कर्मियों की पहचान की गई जिसमें एक A ग्रेड  ए एन एम प्रतिमा की पहचान की गई ।

A ग्रेड  ए एन एम प्रतिमा

दूसरी अस्पताल से लेकर डिलीवरी दाई के पास जाने वाली ममता सरिता को किया ।

ममता सरिता

वही डॉ.अजय कुमार सिंह के द्वारा अस्पताल प्रबंधक को  निर्देश दिया गया कि पीड़िता से आवेदन लेकर त्वरित कारवाई करने के लिए
सिविल सर्जन को अनुशंसा कर भेजा जाए ।अब देखना यह है कि सिविल सर्जन के द्वारा पीड़ित को इंसाफ मिलता है या फिर उसके आवेदन को कचरे के डब्बे में फेंक दिया जाता है ?

Comments

comments

x

Check Also

RTI : एक ही संस्था के द्वारा अलग-अलग विद्यालयों में एक ही सामग्री की आपूर्ति के लिए अलग-अलग दिखाए गए!!

भदोही जिले में राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान के तहत उच्चीकृत किए गए 32 राजकीय हाईस्कूलों में फर्नीचर व लैब सामग्री ...