http://pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js इवेंट मैनजर बन कर रह गए हैं नीतीश कुमार, बिहार का गरीब-गुरबा उनसे ऊब गया है- शिवानंद तिवारी – India News Live

इवेंट मैनजर बन कर रह गए हैं नीतीश कुमार, बिहार का गरीब-गुरबा उनसे ऊब गया है- शिवानंद तिवारी

राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) के उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को एकबार फिर आड़े हाथों लिया है

राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) के उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को एकबार फिर आड़े हाथों लिया है. उन्होंने नीतीश पर आरोप लगाया है कि वह सिर्फ घोषणाएं करते रहते हैं, जमीनी स्तर पर कोई काम नहीं करते. अपने फेसबुक पेज पर बिहार के मुख्यमंत्री पर निशाना साधते हुए उन्होंने लिखा, ‘नीतीश कुमार बहुत क़ाबिल ‘इवेंट्स’ मैनेजर हैं. उत्सवों के आयोजन में इनका कोई मुक़ाबला नहीं है. यह वर्ष गांधी जी की चंपारण यात्रा का शताब्दी वर्ष है. सालभर गांधी केंद्रित कार्यक्रम चलाने की घोषणा स्वयं मुख्यमंत्री जी के मुखारविंद से ही हुई.  शुरुआती धूम-धड़ाके के बाद शताब्दी वर्ष की आज कहीं चर्चा तक नहीं है. स्वयं नीतीश जी के सार्वजनिक भाषणों में इसका ज़िक्र नहीं दिखता है.’

उन्होंने आगे लिखा ‘शताब्दी वर्ष में चंपारण के ग़रीब, भूमिहीनों के बीच भूमि का वितरण होगा, यह संकल्प नीतीश जी ने मुझे बताया था. उनका मानना था सरकार अगर ऐसा नहीं कर पाई तो शताब्दी वर्ष महज़ एक ‘इवेंट’ बनकर रह जाएगा. वहां के भूमिहीनो में नीतीश जी के आश्वासन से उम्मीद बंध गई थी. अब निराश लोग भीतीहरवा आश्रम के समक्ष तीन अक्तूबर से सौ घंटे का उपवास कर नीतीश जी को उनके वायदे का दिला रहे हैं.’

बिहार को विशेष राज्य के दर्जे पर उन्होंने कटाक्ष किया, ‘तिलक, दहेज और बालविवाह के विरुद्ध अभियान के रूप में अब एक नए उत्सव की घोषणा हो गई है. इसके पूर्व बिहार को विशेष राज्य का दर्जा मिले इसके लिए लंबा और बड़ा अभियान चला था. सवा करोड़ बिहारियों के दस्तख़त से राष्ट्रपति जी को ज्ञापन दिया गया था. एक समय नीतीश जी के लिए विशेष राज्य मंत्रोचारण था. उनकी राजनीति के नए समीकरण में यह अब फ़िट नहीं बैठता है. इसलिए इस पर मौन साध लिया है.’

उन्होंने कहा कि बिहार की जनता अब नीतीश से छुटकारा पाना चाहती है, ‘नीतीश जी का वृक्षारोपण का कार्यक्रम भी लोगों को याद होगा, जिसको देखिए वही डाढ़-पात ज़मीन में खोंसकर फ़ोटो खींचवा रहा है. लेकिन उत्सवों का यह खेल बहुत हो चुका है. कहां देशभर में शोहरत थी नीतीश जी की, अब तो बिहार का ग़रीब-गुरबा इस ‘इवेंट्स’ मैनेजर से ऊब चुका है. छुटकारा पाना चाहता है. बेचैनी से मौक़े का इंतज़ार कर रहा है

Comments

comments

x

Check Also

गांव में हिन्दू जनजागृति समिति चलाया स्वास्थ्य मिशन..

जामवन्त सिंह(गाजीपुर) स्वच्छ भारत मिशन अभियान के तहत दीपावली एवं छठ को देखते हुए सोनवल हिन्दू जनजागृति समिति की महिला ...